Skip to main content

नोआर्काइव टैग

टीएल; डीआर

नोआर्काइव टैगखोज इंजनों को उनकी खोज परिणामसूची में किसी पृष्ठ की संचित प्रतिलिपिदिखाने से रोकता है। यह विशिष्ट पृष्ठों को खोज इंजन बॉट्स द्वारा कैश किए जाने से बाहर करने के लिए एक वेबसाइट पर कोड का एक टुकड़ा (एक मेटाटैग की तरह) रखकर किया जा सकता है।

नोआर्काइव टैग क्या है?

नोआर्काइव टैग एक बॉट बहिष्करण प्रोटोकॉलहै जो खोज इंजनों को किसी पृष्ठ या पूरी वेबसाइट की कैश्ड कॉपीको स्टोर नहीं करने के लिए कहता है। अर्थात्, इस मेटाटैग का उपयोग तब किया जाता है जब वेबमास्टर किसी पृष्ठ को कैश होने से रोकना चाहता है और खोज इंजन को SERPमें किसी वेबसाइट का पूर्वावलोकन दिखाने से रोकना चाहता है।

एक वेबसाइट को नोआर्काइव टैग का उपयोग क्यों करना चाहिए?

नोआर्काइव टैगस्क्रैपर्स को साइट को Google से बाहर निकालने से रोकता है। साथ ही, इस मेटाटैग का उपयोग आमतौर पर वेबमास्टर द्वारा तब किया जाता है जब वे Google या किसी अन्य खोज इंजन को अपनी साइट की सामग्री को पुन: प्रकाशित करने से प्रतिबंधित करना चुनते हैं।

एक नोआर्काइव टैग का उपयोग ईकॉमर्स साइटों द्वारा किया जा सकता है जब कीमतें बदल सकती हैं या वेबपेज जिनकी सामग्री दिन में कई बार बदलती है। इस मामले में, यदि पृष्ठ को अक्सर पुन: अनुक्रमित नहीं किया जाता है, तो उपयोगकर्ता उस पृष्ठ का पुराना संस्करण देख सकते हैं।

एक वेबसाइट को नोआर्काइव टैग का उपयोग क्यों नहीं करना चाहिए?

किसी पृष्ठ का कैश्ड संस्करण दिखाना कुछ मामलों में उपयोगी हो सकता है। यहां कुछ स्थितियां हैं जब कैश्ड संस्करण वेबसाइट की उपयोगिता में मदद कर सकता है। यदि इसे गलती से हटा दिया गया है, यदि यह अतिभारित है या यदि यह अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो उपयोगकर्ता अभी भी वेबसाइट का कैश्ड संस्करण देख सकते हैं।

नोआर्काइव टैग कैसे लागू करें?

एक वेबपेज में `नोआर्काइव` टैग जोड़कर नोआर्काइव टैग को लागूकिया जा सकता है। कोड का यह टुकड़ा इस तरह दिखना चाहिए:

<मेटा नाम = "रोबोट्स" सामग्री = "नोआर्किव">

इस प्रकार, खोज इंजन खोज परिणामों में वेबपेज की किसी भी प्रति को कैश नहीं करेगा।